73 वें गणतंत्र दिवस समारोह में बोले हेमंत सोरेन- लोगों का अधिकार सुरक्षित हो सके यह सरकार की प्रतिबद्धता

Edited By Diksha kanojia, Updated: 26 Jan, 2022 06:00 PM

hemant soren spoke at the 73rd republic day celebrations

मुख्यमंत्री ने कहा कि संविधान के प्रावधानो के अनुरूप राज्य के सर्वांगीण विकास और लोगों का अधिकतम कल्याण सुनिश्चित करने की दिशा में सरकार तेजी से काम कर रही है। उन्होंने कहा कि लोकतांत्रिक व्यवस्था मे लोगों का अधिकार सुरक्षित हो सके और सभी को विकास...

दुमकाः झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने दुमका में आयोजित 73 वें गणतंत्र दिवस समारोह में झंडोत्तोलन किया और आकर्षक परेड का निरीक्षण तथा सलामी ली।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, पंडित जवाहरलाल नेहरू, डॉ राजेंद्र प्रसाद, नेताजी सुभाष चंद्र बोस, बाबा साहब डॉ भीमराव अंबेडकर, मौलाना अबुल कलाम आजाद, सरदार बल्लभ भाई पटेल सद्दश्य राष्ट्र निर्माताओं और झारखंड के महान विभूति भगवान बिरसा मुंडा, तिलका मांझी, वीर शहीद सिदो-कान्हू, चांद- भैरव, फूलो -झानो, वीर बुधु भगत, जतरा टाना भगत, नीलाम्बर पीताम्बर, शेख भिखारी, पांडेय गणपत राय और शहीद विश्वनाथ शाहदेव को श्रद्धा सुमन अर्पित की। उन्होंने सुरक्षा बलों के जवानों और राज्यवासियों को गणतंत्र दिवस की बधाई और शुभकामनाएं दी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि संविधान के प्रावधानो के अनुरूप राज्य के सर्वांगीण विकास और लोगों का अधिकतम कल्याण सुनिश्चित करने की दिशा में सरकार तेजी से काम कर रही है। उन्होंने कहा कि लोकतांत्रिक व्यवस्था मे लोगों का अधिकार सुरक्षित हो सके और सभी को विकास का समान अधिकार और अवसर मिले, सरकार की यह विशेष प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि सरकार ने अल्प समय में ही कई क्षेत्रों में विकास के लगातार कई प्रयास किए गए हैं।आप सभी के सहयोग से स्वच्छ, पारदर्शी एवं संवेदनशील प्रशासन प्रदान करने की दिशा में कार्य कर रहे हैं । उन्होंने लोगों से कहा कि हम सभी मिलकर राज्य में स्थिरता, शांति एवं समरसता का माहौल बनाएं और अपनी सृजनशीलता और सकारात्मक ऊर्जा से राज्य की सर्वाधिक प्रगति और उन्नति को गति और ऊंचाई प्रदान करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षा विकास का आधार है। ऐसे में शिक्षा के प्रति हमारी सरकार सजग और संवेदनशील है।

इस सिलसिले में राज्यभर में 80 उत्कृष्ट विद्यालय, 325 प्रखंड स्तरीय लीडर स्कूल और 4091 ग्राम पंचायत स्तरीय आदर्श विद्यालय को विकसित किया जा रहा है ।उन्होंने कहा कि पिछले 2 वर्षों से कोविड-19 महामारी की वजह से विद्यालयों को बंद रखने के लिए बाध्य होना पड़ा है। इस घड़ी में विद्यार्थियों के लिए ऑनलाइन शिक्षा की व्यवस्था डीजे -साथ कार्यक्रम के तहत की गई है। वहीं, दूरदर्शन एवं अकाशवाणी के माध्यम से भी पठन-पाठन का कार्यक्रम संचालित किया जा रहा है।

ऑनलाइन शिक्षा को और सुगम और कारगर बनाने की आवश्यकता पर मुख्यमंत्री ने जोर दिया मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत सरकार द्वारा जारी किए गए शैक्षणिक सूचकांक में झारखंड को 29 अंकों का फायदा हुआ है , जो पूरे देश में सर्वाधिक है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मातृभाषा आधारित बहुभाषी शिक्षण व्यवस्था के लिए सामग्रियों को विकसित किया जा रहा है। इसके लिए 250 विद्यालयों को विशेष रुप से चिन्हित कर वहां प्रायोगिक तौर पर मातृभाषा आधारित शिक्षण व्यवस्था लागू करने की योजना बनाई गई है । इस योजना के परिणाम का आकलन कर अन्य विद्यालयों में भी व्यवस्था को लागू किया जाएगा। 

Related Story

Trending Topics

Indian Premier League
Punjab Kings

Delhi Capitals

Match will be start at 16 May,2022 07:30 PM

img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!