सिताब दियारा में शाह का नीतीश कुमार पर हमला- खुद को अनुयायी बताने वाले आज कांग्रेस की गोदी में बैठे हैं

Edited By Nitika, Updated: 11 Oct, 2022 02:03 PM

shah attack on nitish kumar

जयप्रकाश नारायण के 120वीं जयंती समारोह के मौके पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह बिहार के छपरा जिले में पहुंचे। इस दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला करते हुए कहा कि खुद को अनुयायी बताने वाले आज कांग्रेस की गोदी में बैठे हैं।

छपराः जयप्रकाश नारायण के 120वीं जयंती समारोह के मौके पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह बिहार के छपरा जिले में पहुंचे। इस दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला करते हुए कहा कि खुद को अनुयायी बताने वाले आज कांग्रेस की गोदी में बैठे हैं। उन्होंने कहा कि जो आज जेपी के सिद्धांतों को छोड़कर कांग्रेस की गोद मे जाकर बैठ गए, उनके खिलाफ दिलखोलकर नारा लगाइए।

PunjabKesari

अमित शाह ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि मैं जेपी जी की इस महान जन्मभूमि पर आया हूं। यहां जो आदमकद मूर्ति लगाई गई, उसका प्रण हमारी भारत की सरकार ने कैबिनेट में प्रस्ताव पास किया था। सरयू और गंगा के मिलन स्थान और उत्तरप्रदेश बिहार के मिलन स्थान पर इसी भूमि पर जेपी जी का जन्म हुआ था। जेपी जी आज़ादी के लिए लड़े, पूरा जीवन भूमिहीन, पिछड़ी, दलितों के लिए लड़े और जब सत्ता लेने की बात आई तो छोड़ दिया।

PunjabKesari

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि 70 के दशक में सत्ता में चूर सरकार ने देश में इमरजेंसी लगाई तो जेपी जी ने आवाज़ उठाई। उस समय गुजरात मे चिमनभाई पटेल का ग्रेस की सरकार थी। उस आंदोलन के खिलाफ विद्यार्थियों ने आंदोलन किया। उसका नेतृत्व जेपी जी ने किया। यही बिहार के गांधी मैदान में हुआ। तत्कालीन सरकार ने विपक्षी नेताओं को जेल में डाल दिया। 1942 के आंदोलन में जिस व्यक्ति को हजारीबाग की जेल न रोक सकी, उस जेपी को इंदिरा गांधी की तत्कालीन सरकार भी नही रोक सकी। जेपी और विनोबाजी के सर्वोदय के सिद्धांत को आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की सरकार अपना रही है। हर घर मे राशन, हर गांव में बिजली, हर गांव को सड़क बनाना यही कार्य सरकार कर रही है। जेपी जी के सम्पूर्ण क्रांति के नारे को सफल बनाने का काम प्रधानमंत्री मोदी कर रहे हैं। गरीबों के जीवन स्तर को उठाने का कार्य किया जा रहा है।

PunjabKesari

शाह ने कहा कि 1974 में जेपी जी ने बिहार में राजनीतिक आंदोलन किया। सभी विचारधारा के विद्यार्थियों ने उस आंदोलन में सहयोग किया। आज बिहार से पूछ रहा हूं कि जेपी के आंदोलन से निकलकर राजनीति करने वाले नेता आज सत्ता के लिए कांग्रेस की गोद मे बैठ गए क्या आप उनसे सहमत हैं? बिहार की जनता को तय करना है कि जेपी के सिद्धांतों पर चलने वाली मोदी के नेतृत्व की सरकार चाहिए या जेपी के सिद्धांतों से भटक कर सत्ता लोलुप वाली सरकार?

Related Story

Bangladesh

India

Match will be start at 10 Dec,2022 01:00 PM

img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!