West Bengal Election...हुगली जिले की 10 सीटों पर BJP-TMC में चल रहा कांटे का संघर्ष

Edited By Ramanjot, Updated: 10 Apr, 2021 11:08 AM

bjp tmc contested in 10 seats in hooghly district

हुगली जिले के सप्तग्राम और चंडीतल्ला विधानसभा सीटों पर वोटिंग को लेकर भारी उत्साह नजर आ रहा है। बहुचर्चित सिंगुर सीट पर भी दस अप्रैल को मतदान जारी है। सिंगुर सीट से ममता बनर्जी ने बेचाराम मन्ना को चुनावी मैदान में उतारा है। बेचाराम मन्ना के साथ ही...

कोलकाताः पश्चिम बंगाल में चौथे चरण में हुगली जिले की 10 विधानसभा सीटों पर मतदान जारी है। 10 अप्रैल को हुगली के उत्तरपाड़ा, श्रीरामपुर, चांपदानी, चंदननगर, चुंचुड़ा, बालागढ़ और पांडुआ में मतदान जारी है। वहीं हुगली जिले के सप्तग्राम और चंडीतल्ला विधानसभा सीटों पर वोटिंग को लेकर भारी उत्साह नजर आ रहा है। बहुचर्चित सिंगुर सीट पर भी दस अप्रैल को मतदान जारी है। सिंगुर सीट से ममता बनर्जी ने बेचाराम मन्ना को चुनावी मैदान में उतारा है। बेचाराम मन्ना के साथ ही सिंगुर विधानसभा सीट से ममता बनर्जी की सियासी साख भी दांव पर लगी है। वहीं चुनचुरा विधानसभा सीट से बीजेपी की सांसद लाकेट चटर्जी की प्रतिष्ठा भी दांव पर लगी है।
PunjabKesari
हुगली जिले में हिंदुओं की आबादी 82.9 फीसदी है। वहीं मुस्लिमों की आबादी भी 15.8 फीसदी है। देखा जाए तो हुगली जिले में अनुसूचित जाति के वोटरों की आबादी 24.4 फीसदी है तो अनुसूचित जनजाति के वोटरों की आबादी 4.2 फीसदी है। यानी हुगली जिले में अनुसूचित जाति और जनजाति की आबादी कुल मिलाकर 28.6 फीसदी है। इस लिहाज से हुगली जिले की दस सीटों के चुनावी नतीजे तय करने में अनुसूचित जाति और जनजाति के वोटरों की निर्णायक भूमिका है।
PunjabKesari
हुगली जिले में तीन लोकसभा सीट आती है। आरामबाग, हुगली और सेरामपुर लोकसभा सीट पर बीजेपी ने 2019 के चुनाव में ठीक ठाक प्रदर्शन किया था। 2019 के लोकसभा चुनाव में हुगली सीट पर बीजेपी की लाकेट चटर्जी ने 6 लाख 71 हजार 448 वोट हासिल कर जीत का परचम लहराया था। वहीं टीएमसी के कैंडिडेट रत्ना डे को 5 लाख 98 हजार 86 वोट ही मिल पाया था। इस लिहाज से हुगली सीट पर बीजेपी ने बड़े अंतर से जीत हासिल कर लिया था। वहीं सेरामपुर सीट पर 2019 के लोकसभा चुनाव में टीएमसी के कल्याण बनर्जी ने जीत हासिल की थी। कल्याण बनर्जी ने 6 लाख 37 हजार 707 वोट हासिल किया था। वहीं बीजेपी कैंडिडेट देबजीत सरकार ने 5 लाख 39 हजार 171 वोट हासिल किया था। टीएमसी के कल्याण बनर्जी ने बीजेपी को 98 हजार 536 वोट के अंतर से हराया था।
PunjabKesari
वहीं 2019 के लोकसभा चुनाव में आरामबाग सीट पर तृणमूल कांग्रेस के कैंडिडेट अपूर्वा पोद्दार ने बहुत कम अंतर से जीत हासिल की थी। पोद्दार को 6 लाख 49 हजार 929 वोट मिला। उन्हें 44.14 फीसदी वोट मिला था। वहीं आरामबाग सीट से बीजेपी कैंडिडेट तपन कुमार रे 6 लाख 48 हजार 787 को वोट मिला था। इस लिहाज से तपन कुमार रे को 44.06 फीसदी वोट मिला था। महज 11 सौ 42 वोट के अंतर से यहां बीजेपी को हार मिली थी। भ्रष्टाचार, बेरोजगारी, पलायन और राजनीतिक हिंसा जैसी समस्या से हुगली की आम जनता जूझ रही है। बीजेपी विपक्ष के नाते इन मुद्दों को भुनाना चाहती है। वहीं तृणमूल कांग्रेस भी दस साल के अपने काम के आधार पर वोट मांग रही है। हुगली की जनता भी बड़े उत्साह से वोट डाल रही है। उम्मीद तो यही है कि जीत जिसे भी मिलेगी वह आम जनता के दुख दर्द पर मदद की मरहम जरुर लगाएगा।

Related Story

IPL
Gujarat Titans

Chennai Super Kings

Match will be start at 23 May,2023 07:30 PM

img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!