नीतीश ने विकास नहीं होने के प्रशांत किशोर के आरोपों को किया खारिज, कहा- उसका कोई महत्व नहीं...

Edited By Ramanjot, Updated: 07 May, 2022 11:23 AM

nitish refutes prashant kishor s allegations of lack of development

नीतीश कुमार ने शुक्रवार को संवाददाताओं से बातचीत के दौरान बिहार में पिछले 15 सालों में विकास का कोई काम नहीं होने के सवाल पर कहा, ‘‘यह तो आप ही लोगों को पता है कि विकास किया गया है या नहीं। कौन क्या बोलता है उसका कोई महत्व नहीं है। महत्व है सत्य का।...

पटनाः बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उनके पिछले 15 वर्ष के कार्यकाल में प्रदेश का विकास नहीं होने के चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर के आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि कौन क्या बोलता है उसका कोई महत्व नहीं है, महत्व सत्य का है।

नीतीश कुमार ने शुक्रवार को संवाददाताओं से बातचीत के दौरान बिहार में पिछले 15 सालों में विकास का कोई काम नहीं होने के सवाल पर कहा, ‘‘यह तो आप ही लोगों को पता है कि विकास किया गया है या नहीं। कौन क्या बोलता है उसका कोई महत्व नहीं है। महत्व है सत्य का। आप सब जानते हैं कि क्या-क्या हुआ है, कितना काम किया गया है। इन सब चीजों को लेकर हम आपसे आग्रह करेंगे कि इसे खुद ही देखिए। हमलोग किसी की बात का महत्व नहीं देते हैं कि कौन क्या बोलता है।

विकास के सभी पैमाने पर पीछे रहा बिहारः पीके  
उल्लेखनीय है कि चुनावी रणनीतिकार किशोर किशोर ने सोमवार को जन सुराज के जरिए नई राजनीतिक पार्टी बनाने का संकेत देने के बाद गुरुवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में अपनी रणनीति का खुलासा करने के दौरान कहा कि बिहार में पिछले तीस वर्ष में दो बड़े नेताओं की सरकार के शासन के दौरान बिहार विकास के सभी पैमाने पर पीछे रहा है। उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की नीति आयोग की रिपोर्ट पर की गई टिप्पणी कि ‘अरे उन्हें कुछ पता भी है' को लेकर कटाक्ष करते हुए कहा, ‘‘सच में किसी को पता नहीं है लेकिन प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त हो चुकी है, रोजगार का सृजन नहीं हो सका और यहां के लोग दूसरे राज्यों में पलायन कर विषम परिस्थितियों में काम करने को मजबूर हैं।

मुख्यमंत्री ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के कोरोना काल के बाद नागरिका संशोधन कानून (सीएए) लागू करने की घोषणा से संबंधित सवाल के जवाब में कहा कि सबसे बड़ी बात है कि अभी कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। उन्हें कोरोना से लोगों की रक्षा करने की ज्यादा चिंता है। नीति की बात होगी तो उसको वह अलग से देखेंगे। उन्होंने बाकी चीजों को अभी देखा नहीं है। नीतीश ने कोयला संकट से संबंधित प्रश्न पर कहा कि संकट की स्थिति में जो भी राज्य सरकार से संभव है, काम करने की कोशिश की जा रही है। सभी जानते हैं कि संकट एक जगह पर नहीं है अनेक जगहों पर है। फिर भी जो कुछ वह कर सकते हैं उसे करने का प्रयास किया जाएगा।

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!