उपेंद्र चौहान ने कहा- बिहार में BJP को कमजोर कर रहे सुशील मोदी, तोड़ रहे कार्यकर्ताओं का मनोबल

Edited By Ramanjot, Updated: 28 Apr, 2022 04:27 PM

upendra chauhan accuses sushil modi of weakening bjp

उपेंद्र चौहान ने बुधवार को जारी बयान में कहा कि इन दिनों बिहार में बार बार सरकार के नेतृत्व और स्वरूप में बदलाव की खबर आती है। खासकर बिहार में भाजपा बड़ा भाई और जनता दल यूनाइटेड (जदयू) छोटा भाई है। ऐसे में चुनाव परिणाम के बाद केंद्रीय नेतृत्व ने...

पटनाः बिहार भाजपा कार्यसमिति के सदस्य उपेंद्र चौहान ने पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी पर प्रदेश में भाजपा को कमजोर करने का आरोप लगाते हुए कहा कि वह अपने कार्यों और बयानबाजी से पार्टी कार्यकर्ताओं का लगातार मनोबल तोड़ रहे हैं।

उपेंद्र चौहान ने बुधवार को जारी बयान में कहा कि इन दिनों बिहार में बार बार सरकार के नेतृत्व और स्वरूप में बदलाव की खबर आती है। खासकर बिहार में भाजपा बड़ा भाई और जनता दल यूनाइटेड (जदयू) छोटा भाई है। ऐसे में चुनाव परिणाम के बाद केंद्रीय नेतृत्व ने नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री के रूप में स्वीकृति दी थी लेकिन यदि भाजपा अपने किसी सक्षम नेतृत्व को दारोमदार सौपती तो संभवत: भाजपा के लाखो कार्यकर्त्ता का मनोबल ज्यादा मजबूत होता।

भाजपा नेता ने कहा कि अभी बिहार के सियासी परिद्दश्य में हमारे एक नेता सुशील मोदी बार बार जिस तरह से सीधे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की गोद में बैठकर भाजपा के सिद्धांतो से इतर बयानबाजी कर रहे हैं वह दल को कमजोर करनेवाली बात है। इतिहास गवाह है कि एक समय भाजपा को खाने का निमंत्रण देकर पत्ता छीन लेने वाली साजिश में सुशील मोदी का हाथ था। जिस समय नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे उस समय उनका साथ न देकर नीतीश कुमार को पीएम मैटेरियल बताते रहे उस समय सुशील मोदी का यहां पार्टी के लोगों ने पुरजोर विरोध भी किया था। इसके अलावा मोदी ने कई स्तर पर पार्टी के खिलाफ भी काम किया, खासकर चुनाव के समय टिकट बंटवारे के समय केंद्रीय नेतृत्व को भुलावे में रखकर कई अच्छे लोगों को दरकिनार भी कर दिया, जिसका खामियाजा पार्टी को उठाना भी पड़ा।

उपेंद्र चौहान ने कहा कि सुशील मोदी बार बार बयानबाजी कर अपनी ही पार्टी के कार्यकर्ताओं की हिम्मत और उम्मीदों को तोड़ने का काम कर रहे हैं। अपनी ही पार्टी के नेताओं के बयान के विपरीत बयान देकर ये साबित कर देते हैं कि सुशील मोदी नीतीश कुमार की बी टीम के रूप में काम कर रहे हैं। हालांकि प्रदेश में एक समय में इन्हे मजबूत जिम्मेदारी दी गई थी लेकिन उस समय भी दलहित में काम नहीं कर अपने कार्यकर्ताओं को निराश किया। पार्टी ने उस समय वस्तुस्थिति को समझते हुए प्रदेश से हटा लिया जा सराहनीय फैसला माना गया। लेकिन इन दिनों फिर से सुशील मोदी उसी काम को करने लगे हैं और पार्टी लाइन से अलग बोलने लगे हैं। उन्होंने भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व से मोदी के इस तरह के अनर्गल प्रलाप पर रोक लगाने एवं उनपर अनुशासनात्मक कार्रवाई करने की मांग की।

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!