एक्सएलआरआइ में इंस्पायरस 2022 के दौरान विभिन्न क्षेत्र की पांच सफल महिलाओं ने रखी अपनी बातें

Edited By Diksha kanojia, Updated: 06 Aug, 2022 04:36 PM

during inspires 2022 at xlri 5 successful women from different

इस दौरान बताया कि किस प्रकार उन्होंने अपने जीवन की चुनौतियों को लगन-संघर्ष व मेहनत के बल पर उसे उम्मीदों में बदला। इस कार्यक्रम के दौरान मुख्य रूप से यह बात उभर कर सामने आयी कि पुरुष और महिलाएं दोनों आवश्यक हैं। जीवन के इस यात्रा में उत्कृष्टता...

रांचीः झारखंड के एक्सएलआरआइ जमशेदपुर में इंस्पायरस 2022 का आज आयोजन किया गया। एक्सएलआरआइ पीजीडीएम (जीएम) की ओर से आयोजित इस कॉन्क्लेव में अलग-अलग क्षेत्र की पांच सफल महिला उद्यमियों ने अपने जीवन के अनुभवों को एक्सलर्स के साथ साझा किया।

इस दौरान बताया कि किस प्रकार उन्होंने अपने जीवन की चुनौतियों को लगन-संघर्ष व मेहनत के बल पर उसे उम्मीदों में बदला। इस कार्यक्रम के दौरान मुख्य रूप से यह बात उभर कर सामने आयी कि पुरुष और महिलाएं दोनों आवश्यक हैं। जीवन के इस यात्रा में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए दोनों को एक-दूसरे का समर्थन करना और एक इकाई के रूप में एकजुट होना जरूरी है। महिला सशक्तिकरण कोई लिंग केंद्रित कार्य नहीं है।पुरुषों और महिलाओं दोनों की अपनी-अपनी चुनौतियां होती हैं, स्थिति तब आदर्श हो जाती है जब दोनों एक टीम के रूप में मिलकर काम करते हैं। कार्यक्रम का संयोजन एक्सएलआरआइ की ओर से डॉ. टीना के. स्टीफन ने किया।

सह संयोजन का कार्य प्लेसमेंट कमेटी की सदस्य मो. उर्वशी कौल और दिव्या एनामंद्रा ने किया। ये पैनलिस्ट थे वक्ता के रूप में उपस्थित आराधना खेतान- संस्थापक और प्रबंध निदेशक, मान्या एजुकेशन प्राइवेट लिमिटेड, अनुरंजिता कुमार- सह-संस्थापक और सीईओ, वी-ऐस, मास्टरशेफ शिप्रा खन्ना, भारतीय सेलिब्रिटी शेफ, लेखक, रेस्टोरेंट मालिक, टीवी पर्सनैलिटी, शालिनी पिल्ले- ऑफिस मैनेजिंग पाटर्नर, बैंगलोर व इंडिया लीडर- ग्लोबल क्षमता केंद्र, केपीएमजी इंडिया और टीना के. स्टीफन- एक्सएलआरआइ थी। इस मौके पर अनुरंजिता कुमार और शालिनी पिल्ले ने अपनी बातों को प्रस्तुत करते हुए सफलता की कहानियां बयां की। कहा कि वे अपने जीवनसाथी की मदद से भी काफी कुछ समझते हैं।

आराधना खेतान ने कहा कि समाज में प्रतिबंधात्मक विचारों और विचारों के आधार पर महत्वाकांक्षाएं पूरा करने के लिए ये जरूरी है कि आप खुद पर संयम रखें। उन्होंने व्यवसाय शुरू करने में आने वाली चुनौतियों के साथ ही आगे वाली कठिनाइयों से जुड़ी बातों से भी सभी को अवगत कराया। उसने सलाह दि कि अज्ञात परिणामों की चिंता या भय के बिना आगे बढ़ा जा सकता है। कहा कि सही समय पर सही चीजों को करना महत्वपूर्ण है। शालिनी ने कॉर्पोरेट सीढ़ी पर उच्च महिलाओं पर ध्यान केंद्रित किया बताया बताया कि कैसे उन्हें कभी-कभी उनके सवालों के अधीन किया जाता है। उन्होंने सलाह दी कि चीजें मुश्किल होने पर भी खुद पर विश्वास करना बंद न करें। 

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!