नीतीश के 'आखिरी चुनाव' वाले बयान पर राजनीति तेज, विपक्ष ने कसा तंज तो JDU ने दी सफाई

Edited By Ramanjot, Updated: 06 Nov, 2020 02:07 PM

politics intensified on nitish s last election statement

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार गुरुवार को एक चुनावी सभा के दौरान भावुक हो गए। उन्होंने इस बार के विधानसभा चुनाव को अपना आखिरी चुनाव बताते हुए जनता से अपने नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) प्रत्याशियों को वोट देने की अपील की।

पटनाः बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार गुरुवार को एक चुनावी सभा के दौरान भावुक हो गए। उन्होंने इस बार के विधानसभा चुनाव को अपना आखिरी चुनाव बताते हुए जनता से अपने नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) प्रत्याशियों को वोट देने की अपील की। उनके इस बयान को लेकर विपक्ष की ओर से सियासी बयानबाजी तेज हो गई है। जहां एक तरफ विपक्ष ने नीतीश के इस बयान को लेकर उन पर तंज कसा, वहीं दूसरी तरफ जदयू ने इस पर अपनी सफाई दी है।


हम शुरू से कह रहे हैं कि नीतीश पूर्णत: थक चुके हैः तेजस्वी
नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर कहा, "आदरणीय नीतीश जी बिहारवासियों की आकांक्षाओं, अपेक्षाओं के साथ-साथ जमीनी हकीकत भी स्वीकार करने को तैयार नहीं थे। हम शुरू से कहते आ रहे है कि वो पूर्णत: थक चुके है और आज आखिरकार उन्होंने अंतिम चरण से पहले हार मानकर राजनीति से संन्यास लेने की घोषणा कर हमारी बात पर मुहर लगा दी।"

यह चुनाव नीतीश की राजनीतिक पारी का अंतः दीपंकर
वहीं भाकपा-माले के महासचिव दीपंकर भट्टाचार्या ने कहा कि बिहार की जनता ने नीतीश की विदाई का मन पूरी तरह से बना लिया है। 10 नवंबर को जब चुनाव परिणाम आएगा तब इस पर मुहरपह् भी लग जाएगी। उन्होंने कहा कि यह चुनाव नीतीश कुमार की राजनीतिक पारी का अंत है। 

अगले चुनाव में ना साहब रहेंगे ना जेडीयूः चिराग पासवान
जदयू से अलग होकर चुनाव लड़ रहे लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान ने भी नीतीश के इस बयान को लेकर निशाना साधा। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, "साहब ने कहा है की यह उनका आखिरी चुनाव है। इस बार पिछले 5 साल का हिसाब दिया नहीं और अभी से बता दिया की अगली बार हिसाब देने आएंगे नहीं। अपना अधिकार उनको ना दें जो कल आपका आशीर्वाद फिर मांगने नहीं आएंगे। अगले चुनाव में ना साहब रहेंगे ना जेडीयू। फिर हिसाब किससे लेंगे हम लोग?

जदयू ने दी सफाई
वहीं दूसरी ओर जदयू के नेताओं ने नीतीश के इस बयान पर सफाई दी है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि राजनीति करने वाला और समाज सेवा करने वाला कभी ‘रिटायर' नहीं होता है और नीतीश कुमार उसी में से हैं। वह रिटायर होने का फैसला कैसे ले सकते हैं। वह दृढ़ निश्चयी हैं। वह सार्वजनिक जीवन में बने रहेंगे। इनके अलावा सूचना मंत्री व जदयू नेता नीरज कुमार ने कहा कि सीएम नीतीश ने चुनावी भाषण में राज्य के विकास को और तेज करने के लिए जनता से वोट मांगा है। एक बार फिर उनके नेतृत्व में राजग की सरकार बनेगी।

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!