खाद्य पदार्थों पर GST लगाने के फैसले को चिराग ने बताया दुर्भाग्यपूर्ण, कहा- आम जनता को झेलनी पड़ रही परेशानी

Edited By Ramanjot, Updated: 23 Jul, 2022 01:08 PM

chirag called the decision to impose gst on food items unfortunate

चिराग ने कहा कि एक तरफ महंगाई आसमान छू रही है, डीजल पेट्रोल के मूल्यों में वृद्धि से ट्रांसपोर्टिंग पहले से महंगा है तो दूसरी और रोजमर्रा की जिंदगी में उपयोगी खाद्य पदार्थों पर टैक्स लगाने से मध्यमवर्ग और गरीब आम जनता को परेशानियां झेलनी पड़ रही है।...

मुजफ्फरपुरः केंद्र सरकार द्वारा दाल चावल आटा गेहूं समेत अन्य सामग्रियों पर 5% का जीएसटी लगाया गया है, जिससे खाने-पीने की चीजें महंगी हो गई हैं। वहीं बिहार लोजपा के प्रमुख सह सांसद चिराग पासवान ने केंद्र सरकार से इस फैसले पर कहा कृषि प्रधान देश में अब दूध, दही घी मक्खन आदि खाद्य सामग्रियों पर आम लोगों से टैक्स लिया जा रहा है यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है।

चिराग ने कहा कि एक तरफ महंगाई आसमान छू रही है, डीजल पेट्रोल के मूल्यों में वृद्धि से ट्रांसपोर्टिंग पहले से महंगा है तो दूसरी और रोजमर्रा की जिंदगी में उपयोगी खाद्य पदार्थों पर टैक्स लगाने से मध्यमवर्ग और गरीब आम जनता को परेशानियां झेलनी पड़ रही है। उन्होंने केंद्र सरकार से इस पर पुनर्विचार करने की मांग की है। साथ ही उन्होंने कहा कि बिहार के कई जिलों में धान की रोपाई नहीं हो सकी है, जिससे किसानों के खेतों में दरारें पड़ चुकी है। उन्होंने राज्य सरकार से मांग करते हुए कहा कि जिन जिलों में बरसात अनुपात से कम हुई है, उन जिलों में राज्यस्तरीय कमेटी बनाकर सर्वेक्षण की जाए और यथाशीघ्र उन जिलों को सुखाड़ घोषित किया जाए।

वही, दूसरी तरफ कांटी में बिजली संकट को लेकर स्थानीय युवाओं ने चिराग को बताया कि कांटी में एनटीपीसी होने के बावजूद यहां 5-6 घंटे ही बिजली आपूर्ति मिलती है। गर्मी के मौसम में कांटी वासियों को काफी परेशानी झेलनी पड़ रही है। इसके अलावा युवाओं ने बताया कि एनटीपीसी डैम से निकलने वाली  छाई  के डस्ट के कारण स्थानीय लोगों के साथ साथ राहगीरों को भी काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। इस पर चिराग पासवान ने कहा कि जल्द ही कांटी एनटीपीसी के अधिकारियों से इस विषय में वार्ता करेंगे।   

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!