NDA के झूठे वादे ने बिहार के लोगों को परिवार छोड़कर पलायन के लिए किया मजबूर: प्रियंका

Edited By Umakant yadav, Updated: 27 Oct, 2020 07:47 PM

false promise of nda forced people of bihar to leave family and flee princeka

शिवसेना की राष्ट्रीय प्रवक्ता एवं राज्यसभा सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने आज कहा कि बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार के झूठे वादे के कारण प्रदेश के लोग परिवार छोड़कर दूसरे...

पटना: शिवसेना की राष्ट्रीय प्रवक्ता एवं राज्यसभा सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने आज कहा कि बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार के झूठे वादे के कारण प्रदेश के लोग परिवार छोड़कर दूसरे राज्यों में जाने के लिए मजबूर हुए हैं इसलिए ऐसी बड़बोली सरकार को जनता वैक्सीन देकर ठीक करेगी।

शिवसेना की राज्यसभा में उपनेता चतुर्वेदी ने मंगलवार को यहां पार्टी के राज्य प्रमुख कौशलेंद्र शर्मा और पार्टी के बिहार मामलों के प्रभारी सुनील चिटनिस की उपस्थिति में संवाददाता सम्मेलन में कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर अब माहौल पूरी तरह से गरमाया हुआ है। चुनाव आयोग की ओर से निर्धारित मापदंड की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। ऐसे में लोगों को सख्ती से इसके नियम को पालन करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि लोगों को अब जिम्मेदारी तय करने का समय आ गया है और अपना बहुमूल्य वोट भविष्य के लिए करें ना कि नीतीश सरकार के झूठे वादों पर क्योंकि कोरोना के समय मुख्यमंत्री कुमार का चेहरा प्रदेश के लोगों ने अच्छी तरह से देख लिया है। 

राष्ट्रीय प्रवक्ता ने कहा कि बिहार पहले नालंदा विश्वविद्यालय, चाणक्य और गौतम बुद्ध से लेकर सम्राट चंद्रगुप्त मौर्य के नाम से देश ही नहीं बल्कि विदेशों में भी जाना जाता रहा है लेकिन आज कुछ लोगों की गलत राजनीति के कारण वह विकास का सुख प्राप्त नहीं कर सका। बिहार के लोग अन्य राज्यों के विकास को आगे बढ़ाने का काम करते हैं लेकिन दुख इस बात की है कि अपने ही घर में उन्हें वह सुख नहीं मिल पा रहा है। उन्होंने कहा कि बिहार के लोग बेहतर शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार के लिए दूसरे प्रदेश में जाने के लिए विवश हैं।

राज्यसभा सांसद ने कहा कि बिहार की 33.74 प्रतिशत आबादी गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने के लिए विवश है, जो देश में सबसे अधिक है। इसी तरह बिहार में 16 से 40 उम्र के लोगों के लिए काम की उपलब्धता नहीं है। उन्होंने कहा कि बिहार के डीएनए पर सवाल पूछने और वोट के लिए झूठे वादे करने वालों ने बिहार को केवल ठगा है। इसी तरह बिहार को विशेष राज्य का दर्जा और सवा लाख करोड़ रुपये का विशेष पैकेज दिए जाने के झूठे वादे किये गये। उन्होंने कहा कि अब वे फिर से चुनाव के समय 19 लाख लोगों को रोजगार देने और कोरोना का मुफ्त में टीकाकरण कराने की बात कर रहे हैं लेकिन अब जनता ऐसे राजनेताओं को वोट के माध्यम से वैक्सीन देगी। 

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!