NIA ने शुरू की फुलवारी शरीफ टेरर कनेक्शन की जांच, जंगी और जलालाउद्दीन से पूछताछ में हुए कई खुलासे

Edited By Ramanjot, Updated: 26 Jul, 2022 12:22 PM

nia starts investigation of phulwari sharif terror connection

जंगी और जलालउद्दीन से पूछताछ में पता चला है कि पीएफआई के खतरनाक मंसूबो को अंजाम देने के लिए इन लोगों ने बिहार और यूपी में एक स्लीपर सेल तैयार कर दिया था। इससे कट्टर पंथी विचारधारा वाले मुस्लिम युवकों को शामिल किया गया था। एसडीपीआई और अन्य नामों से...

पटना (अभिषेक कुमार सिंह): फुलवारीशरीफ टेरर मॉड्यूल को लेकर एनआईए की एक जांच टीम ने पटना पुलिस से इस मामले से जुड़ी जानकारियां ली हैं। इससे पहले पटना पुलिस ने इस मामले में जेल भेजे गए नुरुद्दीन जंगी और मो जलालउद्दीन को 48 घंटे के रिमांड पर लेकर पूछताछ की। इस पूछताछ में कई खुलासे हुए है।

जंगी और जलालउद्दीन से पूछताछ में पता चला है कि पीएफआई के खतरनाक मंसूबो को अंजाम देने के लिए इन लोगों ने बिहार और यूपी में एक स्लीपर सेल तैयार कर दिया था। इससे कट्टर पंथी विचारधारा वाले मुस्लिम युवकों को शामिल किया गया था। एसडीपीआई और अन्य नामों से बने संगठन के जरिए इनके साथ बैठकें भी होती थी। पूछताछ में लखनऊ से गिरफ्तार नुरुद्दीन जंगी ने बताया की वह एडवोकेट है और पीएफआई से जुड़े लीगल मामलों को देखता है। इसी क्रम में उसका बिहार और यूपी के कई शहरों मे आना जाना होता है। जबकि मो जलालउद्दीन जो झारखंड पुलिस का रिटायर सब इंस्पेक्टर है।

नुरुद्दीन जंगी ने बताया कुछ उसने सब कुछ जानते हुए अत हर परवेज को अपना मकान किराए पर दिया था। ट्रेनिंग के लिए जो लोग बाहर से आते थे उन्हें फर्जी नाम से होटल मे रुकवाने की व्यवस्था भी वहीं करता था। यह भी सामने आया है कि पीएफआई को क्रिप्टो करेंसी के जरिए पैसे विदेशो से आते थे। कतर के एक अल्फासो नाम के एंजियो के जरिए ये पैसे भेजे जाते थे।

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!