CM नीतीश का निर्देश- हर हाल में वर्ष 2025 तक हर खेत सिंचाई का पानी निश्चय योजना हो पूर्ण

Edited By Ramanjot, Updated: 22 Jul, 2022 10:25 AM

by the year 2025 every farm irrigation water scheme should be completed cm

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के अंदर नदियों को जोड़ने की दिशा में भी तेजी से काम करें ताकि किसानों को सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध रहे। टाल क्षेत्र के लिए कैसी-कैसी योजनायें बनाई गई हैं, उससे आप सभी भलीभांति अवगत हैं। सभी तरह की सुविधा दी गई है। उन्होंने...

पटनाः बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अधिकारियों को हर हाल में वर्ष 2025 तक हर खेत सिंचाई का पानी निश्चय योजना का काम पूर्ण करने का निर्देश दिया। नीतीश ने गुरुवार को उनकी अध्यक्षता में सात निश्चय-2 के तहत हर खेत तक सिंचाई का पानी निश्चय योजना की समीक्षा के लिए हुई बैठक में निर्देश देते हुए कहा कि सात निश्चय-2 के संबंध में वर्ष 2021 में ही बैठक हुई थी। हर खेत तक सिंचाई का पानी, लक्ष्य के अनुरूप निर्धारित समय के अंदर पहुंचे, इसको लेकर तेजी से काम करने की जरूरत है। जितना जल्द हो सके हर खेत तक सिंचाई का पानी पहुंचा दें, इस काम में तेजी लाएं।
PunjabKesari
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के अंदर नदियों को जोड़ने की दिशा में भी तेजी से काम करें ताकि किसानों को सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध रहे। टाल क्षेत्र के लिए कैसी-कैसी योजनायें बनाई गई हैं, उससे आप सभी भलीभांति अवगत हैं। सभी तरह की सुविधा दी गई है। उन्होंने कहा कि पहले समस्तीपुर बाढ़ से कितना ज्यादा प्रभावित होता था। बेगूसराय, खगड़िया में काफी समय तक जलजमाव रहता था। भागलपुर के दक्षिणी और उत्तरी भाग की कैसी स्थिति रहती थी। बाढ़ आने पर दरभंगा, सीतामढ़ी और शिवहर में तो स्थिति और अधिक भयावह रहती थी। बाढ़ आने पर सीतामढ़ी और शिवहर के इलाके में तो चार महीने तक आवागमन बाधित रहता था। चारों ओर पानी से यह इलाका डूबा रहता था। वर्ष 2005 में जाकर उन्होंने देखा उसके बाद काफी काम कराया गया। अब सीतामढ़ी और शिवहर में आसानी से लोग सालों भर आवागमन करते हैं।
PunjabKesari
नीतीश कुमार ने कहा कि 08 जनवरी 2021 की बैठक में हर खेत तक सिंचाई निश्चय योजना के संबंध में एक-एक बात पर चर्चा हुई थी। बड़ी योजनायें जल संसाधन विभाग को दी गयी हैं और इस काम में आपका सहयोग अन्य विभागों के लिए भी बहुत जरूरी है। हमलोगों ने जल संसाधन विभाग को बाढ़ प्रबंधन और सिंचाई कार्य के लिए दो भागों में बांट दिया है ताकि दोनों ही काम बेहतर ढंग से ससमय हो सके। उन्होंने कहा कि अभियाताओं के साथ बैठक कर तेजी से काम को आगे बढायें। स्थल पर भी जाकर किये जा रहे कार्यों के अद्यतन स्थिति की समीक्षा करें। हर हाल में वर्ष 2025 तक इस योजना को पूर्ण करें।
 

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!