बिहार में विपक्षी नेताओं ने की अग्निपथ योजना को वापस लेने की मांग, राज्यपाल फागू चौहान को सौंपा ज्ञापन

Edited By Ramanjot, Updated: 23 Jun, 2022 11:10 AM

opposition leaders demand withdrawal of agneepath scheme in bihar

बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने राज्यपाल को ज्ञापन सौंपने के बाद पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा, ‘‘हमने राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा जिसमें अग्निपथ योजना को तत्काल वापस लेने, राज्य में विरोध प्रदर्शन के दौरान आंदोलनकारियों के...

पटनाः बिहार में विपक्षी महागठबंधन के सभी सहयोगियों के नेताओं ने केंद्र की अग्निपथ योजना के खिलाफ बुधवार को विधानसभा से राजभवन तक विरोध मार्च निकाला। विपक्षी महागठबंधन में सबसे बड़ी पार्टी राजद के नेता तेजस्वी यादव के नेतृत्व में विपक्षी नेताओं ने राज्यपाल फागू चौहान से मुलाकात कर अग्निपथ योजना को तत्काल वापस लेने की मांग संबधी ज्ञापन सौंपा। 

गिरफ्तार छात्रों की रिहाई की मांग 
बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने राज्यपाल को ज्ञापन सौंपने के बाद पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा, ‘‘हमने राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा जिसमें अग्निपथ योजना को तत्काल वापस लेने, राज्य में विरोध प्रदर्शन के दौरान आंदोलनकारियों के खिलाफ दर्ज सभी प्राथमिकी रद्द करने और गिरफ्तार छात्रों की रिहाई की मांग की गई है''। उन्होंने कहा, ‘‘अग्निपथ योजना उन छात्रों के खिलाफ है जो रक्षा सेवाओं में नौकरी की तैयारी कर रहे हैं। भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार हमारे युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है। यदि युवा नौकरी की प्रकृति से संतुष्ट नहीं हैं जो उन्हें इस योजना के माध्यम से दी जाएगी तो वे सीमाओं पर कर्तव्यों का पालन कैसे करेंगे। केंद्र को अग्निपथ योजना वापस लेनी चाहिए ।'' 

नई योजना देश के भविष्य के लिए घातकः तेजस्वी 
राजद नेता ने पूछा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार योजना के खिलाफ चल रहे विरोध पर चुप्पी क्यों साध रहे हैं। तेजस्वी ने आरोप लगाया, ‘‘राजग सरकार ने रेलवे, एयर इंडिया, एयरपोर्ट, पेट्रोलियम कंपनियां, टेलीकॉम बेच दी है और अब वह रक्षा बलों में दखल दे रही है। नई योजना देश के भविष्य के लिए घातक है। बीजेपी नेताओं का एक तबका कह रहा है कि युवा अब शांत हो गए हैं। मैं कहना चाहता हूं कि सरकार की नीतियों के विरोध में हिंसक आंदोलन ही एकमात्र तरीका नहीं है। हम शांतिपूर्ण विरोध का भी सहारा ले सकते हैं''। उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘भाजपा नेता भी युवाओं का मजाक बना रहे हैं। भाजपा के नेता कह रहे हैं कि नई योजना के तहत रक्षा बलों से सेवानिवृत्त होने के बाद उन्हें (युवाओं को) भाजपा कार्यालयों में सुरक्षा गार्ड के रूप में नियुक्त किया जाएगा।

तेजस्वी ने कहा कि देश में 2 करोड़ युवाओं को रोजगार देने के राजग के वादे का क्या हुआ। बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान राजग ने वादा किया था कि वे युवाओं को 19 लाख नौकरियां देंगे, उसका क्या हुआ।

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!