गंगाजल आपूर्ति योजना से इन जिलों के लोगों को मिलेगा शुद्ध पेयजल, जून 2022 तक कार्य पूर्ण करने का लक्ष्य

Edited By Nitika, Updated: 31 May, 2022 02:19 PM

people will get pure drinking water from this scheme

बिहार की भौगोलिक स्थिति ऐसी है कि इसे कभी बाढ़ की त्रासदी तो कभी सुखाड़ का दंश झेलना पड़ता है। दक्षिणी बिहार के कई जिले ऐसे हैं, जहां जल की समस्या हमेशा बनी रहती है।

 

नालंदा(अभिषेक कुमार सिंह): बिहार की भौगोलिक स्थिति ऐसी है कि इसे कभी बाढ़ की त्रासदी तो कभी सुखाड़ का दंश झेलना पड़ता है। दक्षिणी बिहार के कई जिले ऐसे हैं, जहां जल की समस्या हमेशा बनी रहती है। इसी को देखते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 2020 में गंगा जलापूर्ति योजना की शुरुआत की, जिसका सफल ड्राई रन 11 मई तो 15 मई को ट्राई रन किया गया। इस योजना से नालंदा, नवादा, गया जिले के लाखों लोगों को पीने की शुद्ध पानी मिल सकेगा। इसके लिए 190 किलोमीटर पाइपलाइन के जरिए गंगा नदी का पानी मोकामा के हाथीदह से राजगीर होते हुए गया तक लाया गया है।
PunjabKesari
इस योजना के तहत कुल 150.58 किमी. पाइप लाइन के विरूद्ध 148.3 किमी. में पाइप बिछाने का कार्य पूरा कर लिया गया है। इन्टेकवेल-सह-पम्प हाऊस, हाथीदाह से डिटेन्शन टैंक- सह-पम्प हाउस,राजगीर तक कुल 91.0 किमी. की लंबाई मे पाइप बिछाने का काम पूरा हो गया है। सबसे पहले हाथीदह में लगे हैवी सुपरपावर मोटर के जरिए गंगा जल को अपलिफ्ट कर के पाइप के जरिए राजगीर के गिरियक में बने डिटेंशन टैंक में पहुंचाया जा रहा है।

PunjabKesari
मोकामा से चले गंगा जल को सबसे पहले राजगीर में बने डिटेंशन टैंक में स्टोर किया जाएगा। इसके बाद डिटेंशन टैंक से पानी को गिरियक में बन रहे रिजर्वायर में स्टोर किया जाएगा, जहां से पानी की सप्लाई शहरवासियों को 8 महीने मिलती रहेगी। गंगा से जल की आपूर्ति सिर्फ बरसात के दिनों के चार महीने के लिए होगी, बाकी 8 महीने रिजर्वायर से आपूर्ति होगी।
PunjabKesari
इस योजना की कुल लागत 4174.81 करोड़ रुपए है। इस योजना के तहत आगे इसी तरह गंगा जल को गया नवादा भी पहुंचाया जा रहा है। योजना के तहत राजगीर के निकट राजगीर जलाशय का निर्माण, राजगीर डिटेन्शन टैंक- सह-पम्प हाउस, राजगीर शहर में पेयजलापूर्ति हेतु जलशोधन संयंत्र का निर्माण, गया जिला के मोहरा प्रखंड मे तेतर जलाशय का निर्माण, गया जिला के मानपुर प्रखंड मे आब्गिल्ला ग्राम मे आरसीसी टैंक, गया एवं बोधगया शहरों में पेयजलापूर्ति हेतु जल शोधन संयंत्र का निर्माण कार्य अंतिम चरण में है।
PunjabKesari
नवादा शहर में पेयजलापूर्ति हेतु पौरा के निकट जल शोधन संयंत्र का निर्माण कार्य प्रगति में है। राजगीर, नवादा, गया एवं बोधगया शहरों में पेयजलापूर्ति हेतु वितरण प्रणाली से संबंधन का कार्य प्रारम्भ किया गया है। योजना के तहत लगभग 86 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है। योजना को जून 2022 तक पूर्ण करने का लक्ष्य है। यह परियोजना आगामी वर्ष 2051 तक की आबादी को ध्यान में रखकर बनाई गई है। इस योजना में चिह्नित किए गए नालंदा के राजगीर सहित गया और नवादा जिले के लोगों को स्वच्छ पेयजल के रूप में पवित्र गंगा का जल उपलब्ध होने लगेगा। इससे लाखों आबादी को फायदा होगा।

Related Story

Trending Topics

Ireland

221/5

20.0

India

225/7

20.0

India win by 4 runs

RR 11.05
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!