लालू प्रसाद के कई परिसरों में सीबीआई के छापों पर राजद नेताओं, कार्यकर्ताओं ने रोष जताया

Edited By PTI News Agency, Updated: 20 May, 2022 06:06 PM

pti bihar story

पटना, 20 मई (भाषा) राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद के दिल्ली और बिहार में कई परिसरों पर केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) के छापों के बाद राज्य में शुक्रवार को राजनीतिक तापमान बढ़ गया।

पटना, 20 मई (भाषा) राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद के दिल्ली और बिहार में कई परिसरों पर केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) के छापों के बाद राज्य में शुक्रवार को राजनीतिक तापमान बढ़ गया।
सीबीआई ने एक दशक से भी पहले प्रसाद के रेल मंत्री रहने के दौरान हुई कथित अनियमितता से जुड़े एक मामले की जांच के सिलसिले में यह छापेमारी की।
राजद के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने सीबीआई की कार्रवाई पर रोष जताया। वे राजद प्रमुख की पत्नी एवं पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास के सामने सड़क पर एकत्र हुए । उनमें से कई ने राजनीतिक भयादोहन के खिलाफ रोष प्रकट करने के लिए अपनी कमीज उतार ली थी।
हालांकि, केंद्र और राज्य में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी ने राजनीतिक भयादोहन के आरोप को खारिज कर दिया और कहा कि सीबीआई एक स्वतंत्र एजेंसी के तौर पर प्राप्त शक्तियों के अनुरूप कार्य कर रही है।

मुख्यमंत्री के आधिकारिक आवास से महज कुछ ही दूरी पर स्थित राबड़ी के 10, सर्कुलर रोड बंगले के सामने दोपहर तक सैकड़ों लोग एकत्र हो गये।

राजद प्रमुख के परिसर को, छापा मारने वाले दल ने अंदर से बंद कर दिया। दल के सदस्य तीन कारों में आए थे।
पूर्व विधायक शिव चंद्र राम ने आरोप लगाया, ‘‘मैं यहां से 30 किमी दूर हाजीपुर स्थित अपने घर से भागा हुआ आया। आप मुझे रात को सोते समय पहनने वाले कपड़ों में देख सकते हैं। मैंने ब्रश (दांत साफ) तक नहीं किया है। यह खुल्ल्लम खुल्ला प्रतिशोध है। ’’
कई गंभीर रोगों से पीड़ित लालू प्रसाद कड़ी मेडिकल निगरानी में दिल्ली में हैं। उनके छोटे बेटे तेजस्वी यादव कुछ संगोष्ठी में शामिल होने के लिए लंदन गये हुए हैं।

पूर्व विधायक एवं पार्टी के प्रवक्ता शक्ति यादव ने आरोप लगाया, ‘‘भाजपा तेजस्वी यादव की बढ़ती लोकप्रियता से परेशान है। ’’ उन्होंने कहा कि राजद सभी जातियों की पार्टी बन गई है जो हाल में संपन्न बोचहां विधानसभा उपचुनाव में भाजपा की हार का कारण रही।
राबड़ी के बड़े भाई प्रभुनाथ यादव भी 10, सर्कुलर रोड पर स्थित पूर्व मुख्यमंत्री के आवास के बाहर नजर आए। हालांकि, वह अपनी बहन के घर ज्यादा नहीं आया करते हैं।
उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘मुझे पता चला है कि यहां और गोपालगंज, हमारे पैृतक जिले में भी छापे मारे गये हैं। हां, यह बेशक राजनीति से प्रेरित कार्रवाई है।’’
हालांकि, भाजपा नेता एवं राज्य में मंत्री शाहनवाज हुसैन ने राजद नेताओं के आरोप खारिज कर दिये और कहा कि सीबीआई एक स्वतंत्र जांच एजेंसी है।
हुसैन से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के तेजस्वी से करीबी बढ़ने के चलते सीबीआई को प्रसाद के खिलाफ कार्रवाई के लिए निर्देश दिये जा सकने संबंधी राजद उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी की दलील के बारे में पूछा गयां इस पर उन्होंने कहा, ‘‘राजद और नीतीश कब करीब आए ? ये सब बस अफवाह हैं। हमारी सरकार 2025 तक अपना कार्यकाल पूरा करेगी।’’
वहीं, लोक जनशक्ति पार्टी के पूर्व प्रमुख चिराग पासवान ने कहा, ‘‘सीबीआई का काम करने का अपना तरीका है। नये मामले के समय पर मैं सवाल खड़े करना नहीं चाहता। डरने की जरूरत नहीं है। यदि वे गलत नहीं हैं तो उन्हें कोई नुकसान नहीं होगा। ’’


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!