बिहार में आंधी-वज्रपात से 33 लोगों की मौत...CM ने जताया शोक, 4-4 लाख रुपए मुआवजा देने का निर्देश

Edited By Ramanjot, Updated: 21 May, 2022 09:58 AM

33 people died in bihar due to thunderstorm cm expressed grief

नीतीश कुमार आंधी एवं वज्रपात से भागलपुर में सात, मुजफ्फरपुर में छह, सारण और लखीसराय में तीन-तीन, मुंगेर और समस्तीपुर में दो-दो, जहानाबाद, खगड़िया, नालंदा, पूर्णिया, बांका, बेगूसराय, अररिया, जमुई, कटिहार और दरभंगा में एक-एक व्यक्ति की मौत से मर्माहत...

पटनाः बिहार में आंधी-तूफान और बारिश एक बार फिर कहर बनकर आई। कुछ ही घंटों में राज्य के सोलह जिलों में आंधी एवं वज्रपात से 33 लोगों की मौत हो गई, जिस पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गहरी शोक-संवेदना व्यक्त की है।

नीतीश कुमार आंधी एवं वज्रपात से भागलपुर में सात, मुजफ्फरपुर में छह, सारण और लखीसराय में तीन-तीन, मुंगेर और समस्तीपुर में दो-दो, जहानाबाद, खगड़िया, नालंदा, पूर्णिया, बांका, बेगूसराय, अररिया, जमुई, कटिहार और दरभंगा में एक-एक व्यक्ति की मौत से मर्माहत हैं। उन्होंने प्रभावित परिवारों के प्रति अपनी गहरी शोक-संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि आपदा की इस घड़ी में वे प्रभावित परिवारों के साथ हैं। उन्होंने सभी मृतक के परिजनों को तत्काल चार-चार लाख रुपए अनुग्रह अनुदान देने के निर्देश दिए हैं।

नीतीश कुमार ने आंधी एवं वज्रपात से हुई गृह क्षति एवं फसल क्षति का आंकलन कराने का निर्देश देते हुए कहा कि गृह क्षति का आंकलन आपदा प्रबंधन विभाग एवं फसल क्षति का आंकलन कृषि विभाग अविलंब कराकर प्रभावित परिवारों को जल्द से जल्द सहायता राशि उपलब्ध कराए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि आंधी के कारण पेड़ गिरने से कहीं आवागमन बाधित हुआ है तो उसे तुरंत चालू कराएं।

मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील की है कि सभी लोग खराब मौसम में पूरी सतकर्ता बरतें। खराब मौसम होने पर वज्रपात से बचाव के लिए आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा समय-समय पर जारी किए गए सुझावों का अनुपालन करें। खराब मौसम में घरों में रहें और सुरक्षित रहें।

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!