RJD आई तो विकास के कटोरे में छेद हो जाएगा, जनता को तय करना है कि सुशासन चाहिए या कुशासन: नड्डा

Edited By Umakant yadav, Updated: 27 Oct, 2020 08:54 PM

if rjd comes there will be a hole in the development bowl nadda

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने मंगलवार को विकास के विपक्ष के वादे पर तंज करते हुए कहा कि राष्ट्रीय जनता दल का अराजक चरित्र अभी भी नहीं बदला है, ऐसे में लालू प्रसाद की पार्टी आ गई तब विकास के कटोरे में...

राजनगर/पूर्वी चंपारण: भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने मंगलवार को विकास के विपक्ष के वादे पर तंज करते हुए कहा कि राष्ट्रीय जनता दल का अराजक चरित्र अभी भी नहीं बदला है, ऐसे में लालू प्रसाद की पार्टी आ गई तब विकास के कटोरे में छेद हो जायेगा। उन्होंने कहा कि ऐसे में बिहार की जनता को तय करना है कि उन्हें हाईवे चाहिए या अपहरण, उन्हें सुशासन चाहिए या कुशासन।

भाजपा अध्यक्ष ने मंगलवार को मधुबनी के राजनगर और पूर्वी चंपारण में चुनावी रैलियों को संबोधित किया। नड्डा ने कहा, ‘‘ कुछ लोग बदलाव की बात करते हैं। मैं पूछता हूं कि क्या राजद बदला है? राजद आज भी वहीं है, उसका चरित्र अराजक है। वे नहीं बदले और बदलाव की बात करते हैं।'' तेजस्वी यादव की नौकरी के वादे पर चुटकी लेते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि आजकल राजद के नेता कहते हैं कि वो 10 लाख नौकरियां देंगे लेकिन उनके माताजी और पिताजी ने तो 10 लाख से ज्यादा लोगों को बिहार से पलायन करा दिया था। उन्होंने कहा कि राजद अराजक है और उसने विध्वंसकारी भाकपा माले से तालमेल किया है। जबकि कांग्रेस और उसके नेता मोदी जी का विरोध करने में लगे हैं।

नड्डा ने राजद पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘ये लोग चले थे चरवाहा विश्वविद्यालय बनाने, ये चरवाहा विश्वविद्यालय बनते-बनते चारागाह बना दिया,चारागाह बनाते-बनाते चारा घोटाला कर दिया। ये है इनका रिपोर्ट कार्ड।'' उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और नीतीश कुमार जी के नेतृत्व में बिहार विकास के नित नए आयामों को छू रहा है और अब यह बिहार की जनता को तय करना है कि उन्हें हाईवे चाहिए या अपहरण, उन्हें सुशासन चाहिए या कुशासन।

राजद पर प्रहार जारी रखते हुए नड्डा ने कहा ‘‘जिन्होंने बिहार में अराजकता फैलाई थी, प्रदेश में अपहरण उद्योग चलाया, लोगों को पलायन के लिए मजबूर किया.....वे क्या बिहार का विकास करेंगे?'' उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बिहार के विकास के लिए 1.25 लाख करोड़ रुपये का पैकेज दिया था और 1.25 लाख करोड़ रुपये से विकास कार्य कराए , साथ ही 40 हजार करोड़ रुपये भी बिहार के विकास के लिए दिए । नड्डा ने कहा, ‘‘ और भी विकास होगा। लेकिन यह ध्यान रखना है कि लालू जी आ जायेंगे तब कटोरा में छेद हो जायेगा। ऐसे में पक्का लोटा चाहिए ताकि उपर से डाला जाए तो विकास हो।''

उन्होंने लोगों से कहा, ‘‘आप अपना वोट देने के साथ-साथ अपने रिश्तेदारों से भी निवेदन कीजिए कि बिहार का विकास करना है तो एनडीए के प्रत्याशी को जिताना है। ये चुनाव बिहार के भविष्य को तय करने वाला है। हमें थोड़ी भी चूक होने से बचना है।'' उन्होंने केंद्र और राज्य की राजग सरकार के कार्यो का उल्लेख करते हुए कहा कि नरेन्द्र मोदी जी ने बिहार के 1.36 लाख घरों में बिजली पहुंचाई है, करीब 1.20 लाख घरों में शौचालय बनाए गए हैं और पूरे देश में करीब 2 करोड़ शौचालय बनाए गए हैं।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि नीतीश कुमार जी ने 1.41 करोड़ राशन कार्ड धारकों को 1-1 हजार रुपये देने का काम किया है। लोजपा नेता चिराग पासवान पर परोक्ष निशाना साधते हुए नड्डा ने कहा कि चुनाव के वक्त कुछ लोग षड्यंत्र कर रहे रहे हैं और वोट को बांटना चाहते हैं लेकिन राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंध एकजुट है और हमें ऐसे लोगों से भी सावधान रहना है। उन्होंने कहा, ‘‘ वे एक तरफ तो नीतीश् कुमार को भलाबुरा कहते हैं और दूसरी तरफ मोदीजी की तारीफ करते हैं।'' उन्होंने कहा, ‘‘ हमें याद रखना है कि एनडीए एक है। भाजपा, जदयू, वीआईपी और हम पार्टी ... यही राजग है।''

गौरतलब है कि बिहार चुनाव में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन से अलग होने के बाद भी चिराग, भाजपा के प्रति नरम रुख अख्तियार किए हुए हैं, लेकिन नीतीश कुमार पर निशाना साधने का कोई मौका नहीं छोड़ रहे। हाल ही में चिराग ने स्वयं को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ‘हनुमान'बताया था। कांग्रेस पर निशाना साधते हुए नड्डा ने कहा कि कोरोना से मुकाबले के लिए दुनिया ने मोदी जी की तारीफ की है लेकिन राहुल गांधी पाकिस्तान की ढपली बजा रहे हैं। उन्होंने कहा कि मणिशंकर अय्यर पाकिस्तान में कहते हैं कि मोदी सरकार को बदलने की जरूरत है जबकि शशि थरूर लाहौर के मंच से भारत की निंदा करते हैं और पाकिस्तान की तारीफ करते हैं।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा, ‘‘ पहले समाज को बांटकर चुनाव लड़े जाते थे। लेकिन नरेन्द्र मोदी जी ने राजनीतिक संस्कृति बदल डाली। अब जो कोई भी चुनाव लड़ता है, उसे ये बताना पड़ता है कि उसने पहले क्या काम किए हैं और आगे क्या करने वाला है।'' कोरोना संकट के समय जनधन योजना के तहत 20 करोड़ माता-बहनों के खाते में हर महीने 500-500 रुपये दिए गए। उन्होंने कहा कि देश का 80% मखाना मिथिला क्षेत्र में होता है, आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत बिहार के मखाने की ‘‘वर्ल्ड ब्रैंडिंग'' की जाएगी।

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!