बिहार सरकार का बयान- IAS हरजोत कौर भामरा की टिप्पणियां सरकार की दृष्टि में उचित नहीं

Edited By Ramanjot, Updated: 01 Oct, 2022 02:37 PM

comments of ias officer are not appropriate in eyes of the government

बिहार सरकार की ओर से शुक्रवार को जारी एक बयान में कहा गया है कि 27 सितंबर को आयोजित ‘‘सशक्त बेटी समृद्ध बिहार' विषयक कार्यशाला के दौरान महिला एवं बाल विकास निगम की अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक हरजोत कौर भामरा द्वारा की गई कथित टिप्पणियों पर मुख्यमंत्री...

पटनाः बिहार सरकार ने भारतीय प्रशासनिक सेवा के वरिष्ठ अधिकारी हरजोत कौर भामरा की इस सप्ताह की शुरुआत में यहां छात्राओं के साथ बातचीत के दौरान अविवेकपूर्ण टिप्पणी को सरकार की दृष्टि में उचित नहीं माना है। 

IAS भामरा ने लिखित रूप में मांगी माफी 
बिहार सरकार की ओर से शुक्रवार को जारी एक बयान में कहा गया है कि 27 सितंबर को आयोजित ‘‘सशक्त बेटी समृद्ध बिहार'' विषयक कार्यशाला के दौरान महिला एवं बाल विकास निगम की अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक हरजोत कौर भामरा द्वारा की गई कथित टिप्पणियों पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने संज्ञान लिया है तथा इस संपूर्ण प्रकरण की उच्च स्तरीय समीक्षा की गई है। इसमें कहा गया है कि भामरा की ओर से अभिव्यक्त की गई टिप्पणी राज्य सरकार की दृष्टि में उचित नहीं है। इस घटना पर बमराह द्वारा अपनी भूल स्वीकारते हुए लिखित रूप में गुरुवार को खेद व्यक्त किया गया था। साथ ही यह भी कहा गया कि उनका उद्देश्य किसी को नीचा दिखाना या भावनाओं को ठेस पहुंचाना नहीं था, बल्कि बालिकाओं को आगे बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित करना था।

बिहार सरकार के बयान में कहा गया है कि राज्य सरकार बालिकाओं के सर्वांगीण विकास के लिए संकल्पित है और सरकार बालिकाओं के सशक्तिकरण के लिए अनेक योजनायें चला रही है। मुख्यमंत्री किशोरी स्वास्थ्य योजना अंतर्गत बालिकाओं की माहवारी स्वच्छता सुनिश्चित करने एंव छीजन दर को रोकने के लिए कक्षा 07 से 12 में अध्ययनरत बालिकाओं को सेनेटरी नैपकीन हेतु प्रति वर्ष 300 रूपए की राशि डीबीटी के माध्यम से उनके खाते में उपलब्ध कराई जाती है। विगत वर्ष 2021-22 में 40,67,450 बालिकाओं को इस योजना से लाभांवित किया गया है।

महिला अधिकारी ने छात्रा को दिया था ये जवाब
यूनिसेफ के साथ संयुक्त रूप से आयोजित एक कार्यशाला में एक प्रतिभागी छात्रा के यह पूछे जाने पर कि क्या सरकार छात्राओं को मुफ्त सैनिटरी पैड प्रदान करने पर विचार कर रही है, भामरा ने कहा था, ‘‘20-30 रुपए का सेनेटरी पैड दे सकते हैं। कल जींस पैंट दे सकते हैं। परसों सुंदर जूते क्यों नहीं दे सकते हैं। नरसों को वो नहीं कर सकते और अंत में परिवार नियोजन की बात आएगी तो निरोध भी मुफ्त में देना पड़ेगाए है न।'' इस बीच कमला नेहरू नगर इलाके में रहने वाली प्रतिभागी रिया कुमारी ने महिलाओं के स्वच्छता उत्पादों के एक प्रमुख निर्माता का ध्यान आकर्षित किया है। फेमिनिन हाइजीन ब्रांड एवरटीन ने एक बयान में कहा कि वह रिया को एक साल तक सैनिटरी पैड की आपूर्ति उसके साहस के लिए प्रशंसा के प्रतीक के रूप में प्रदान करेगा।

Related Story

Bangladesh

India

Match will be start at 10 Dec,2022 01:00 PM

img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!