पटनाः मसौढ़ी प्रखंड में बेर्रा बराज का निर्माण लगभग पूर्ण, जल संसाधन मंत्री ने किया निरीक्षण

Edited By Nitika, Updated: 03 Aug, 2022 05:35 PM

construction of berra barrage in masaudhi block complete

जल संसाधन तथा सूचना एवं जनसंपर्क मंत्री संजय कुमार झा ने बुधवार को पटना जिले के मसौढ़ी प्रखंड में बेर्रा ग्राम के निकट दरधा नदी पर नवनिर्मित बेर्रा बराज और पईन के पुनर्स्थापन कार्यस्थल का निरीक्षण किया और विभागीय अधिकारियों को जरूरी निर्देश दिए।

 

पटनाः जल संसाधन तथा सूचना एवं जनसंपर्क मंत्री संजय कुमार झा ने बुधवार को पटना जिले के मसौढ़ी प्रखंड में बेर्रा ग्राम के निकट दरधा नदी पर नवनिर्मित बेर्रा बराज और पईन के पुनर्स्थापन कार्यस्थल का निरीक्षण किया और विभागीय अधिकारियों को जरूरी निर्देश दिए। बेर्रा बराज का निर्माण लगभग पूर्ण हो चुका है। जल संसाधन मंत्री ने निरीक्षण के दौरान इस बराज को लोकार्पण के लिए 15 अगस्त से पहले पूरी तरह तैयार कर लेने सहित कई महत्वपूर्ण निर्देश दिए।
PunjabKesari
मंत्री ने बेर्रा बराज को 15 अगस्त से पहले तैयार करने के दिए निर्देश
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश पर जल संसाधन विभाग ने मसौढ़ी प्रखंड में बाढ़ से सुरक्षा और सिंचाई सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए दरधा नदी पर बेर्रा बराज का निर्माण करवाया है। इसके बायें मुख्य नहर की लंबाई 8 किलोमीटर है, जबकि इससे निस्सृत लघु नहर की लंबाई भी 8 किलोमीटर है। इस महत्वपूर्ण कार्य से मसौढ़ी प्रखंड के महुआ बिगहा गांव से बढ़नी गांव तक अनेक गांवों को सिंचाई सुविधा उपलब्ध होगी।

3187 हेक्टेयर क्षेत्र में मिलेगी सिंचाई सुविधा
वहीं वर्तमान में दरधा नदी में उच्चतम बाढ़ की स्थिति में इस चैनल से सिंचाई सुविधा उपलब्ध हो पाती है, लेकिन बाढ़ अवधि समाप्त होते ही पुनः सिंचाई कार्य बाधित हो जाता है। इसे ध्यान में रखते हुए इस बराज का निर्माण और 16 किलोमीटर में पईन का पुनर्स्थापन कार्य करवाया गया है। इस महत्वपूर्ण सिंचाई योजना से मसौढ़ी प्रखंड के बेदरी बिगहा, बलैठा, बेर्रा, गेलहा बिगहा, नदौल, बहादुर बिगहा, रेमन, जेलल बिगहा, सगुनी, पकरी, शेखपुरा, गुलरिया बिगहा एवं बोर्नी आदि ग्रामों में लगभग 3187 हेक्टेयर क्षेत्र में खरीफ सिंचाई सुविधा उपलब्ध करवाई जा सकेगी।
PunjabKesari
बेर्रा बराज योजना के अंतर्गत निम्न कार्य करवाए गए हैं:-
- बेर्रा ग्राम के निकट बराज और बायें शीर्ष नियामक का निर्माण।
- बराज के बाएं तरफ मुख्य नहर और उससे निस्सृत पईन का कुल 16 किमी लंबाई में पुनर्स्थापन।
- पईन के विभिन्न बिंदुओं पर 30 आउटलेट, 08 फॉल और 09 एकपथीय सेतु का निर्माण।
- बराज के अपस्ट्रीम में 1000 मीटर लंबाई में बाएं एफलक्स बांध का निर्माण, जिसमें 450 मीटर में बोल्डर पीचिंग का कार्य है।
- साथ ही 1000 मीटर लंबाई में दाएं एफलक्स बांध का निर्माण, जिसमें 550 मीटर में बोल्डर पीचिंग का कार्य हुआ है।
- बराज के डाउनस्ट्रीम में 250 मीटर लंबाई में बाएं गाइड बांध और 250 मीटर लंबाई में दाएं गाइड बांध का निर्माण।

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!