बेतियाः नदी के कटाव से विद्यालय, मस्जिद व कब्रिस्तान पर मंडरा रहा बाढ़ का खतरा, नहीं मिल रही सरकारी मदद

Edited By Nitika, Updated: 28 Jul, 2022 11:42 AM

flood threat looming over school mosque and cemetery due to river erosion

एक दर्जन ग्रामीणों ने बताया कि बाढ़ के विनाशकारी प्रकोप से हम सभी ग्रामीण पूरी तरह से भयभीत व परेशान रहते है लेकिन किसी जनप्रतिनिधि व प्रशासन के द्वारा कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया है। इससे बरसात के दिनों में हम लोगों के दिलों में हमेशा बाढ़ का भय...

बेतियाः बिहार के बेतिया जिले में गदियानी भंगहा गांव के लोग ओरिया नदी के कटाव से भयभीत हैं। ओरिया नदी के कटाव से गांव, राजकीय प्राथमिक उर्दू विद्यालय भंगहा एगदियानी, मस्जिद तथा कब्रिस्तान पूरी तरह से खतरे के निशान पर हैं। वहीं गांव की आबादी लगभग 4000 है।

एक दर्जन ग्रामीणों ने बताया कि बाढ़ के विनाशकारी प्रकोप से हम सभी ग्रामीण पूरी तरह से भयभीत व परेशान रहते है लेकिन किसी जनप्रतिनिधि व प्रशासन के द्वारा कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया है। इससे बरसात के दिनों में हम लोगों के दिलों में हमेशा बाढ़ का भय सताता रहता है। उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष विधायक वीरेंद्र गुप्ता की पहल से फ्लड फाइटिंग का काम हुआ था लेकिन वह भी नकारा साबित हो रहा है। गांव सहित विद्यालय मस्जिद व कब्रिस्तान पर अभी भी खतरा मंडरा रहा है। ग्रामीणों ने बताया कि नदी पूरी तरह गांव से सटकर बहती है, जो कि प्रतिदिन कब्रिस्तान का कटाव कर रही है।

वहीं ग्रामीणों ने बताया कि अगर समय रहते बाढ़ रोधी कार्य नहीं किया गया तो हम लोग उग्र होकर आंदोलन भी करेंगे। बता दें कि सन 2019 में आई विनाशकारी बाढ़ ने नसरुद्दीन मियां, आलम मियां, क्याम मियां, अबुल हसन मियां, मोदाक मिया, मोनाफ मियां,मुस्मात गुलशन सहित 11 लोगों के घरों को अपने गर्भ में ले लिया था। इससे सभी लोग बेघर हो गए थे। सभी लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा था। विद्यालय के 3 शौचालय को भी नदी ने अपने गर्भ में ले लिया था।

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!