आधी रात को पासवान के घर पहुंचे हथियार से लैस 30-40 बदमाश, रंगदारी के नाम पर वसूले 5 हजार

Edited By Nitika, Updated: 15 Jun, 2022 06:07 PM

5 thousand recovered from ashok paswan in the name of extortion

बिहार में अपराधियों का बोलबाला है। लगातार बड़ी-बड़ी आपराधिक वारदातें हो रही हैं। कानून-व्यवस्था नाम की चीज समाप्त हो गई है। अपराधी जब चाहें तब अपराध को अंजाम दे रहे हैं। आम आदमी खुद को असुरक्षित महसूस कर रहा है।

 

 

मधेपुराः बिहार में अपराधियों का बोलबाला है। लगातार बड़ी-बड़ी आपराधिक वारदातें हो रही हैं। कानून-व्यवस्था नाम की चीज समाप्त हो गई है। अपराधी जब चाहें तब अपराध को अंजाम दे रहे हैं। आम आदमी खुद को असुरक्षित महसूस कर रहा है। वहीं ऐसा ही एक मामला मधेपूरा जिले से सामने आया है, जहां पर हथियारों से लैस 30-40 अज्ञात बदमाशों ने आधी रात को अशोक पासवान के घर पर धावा बोला। साथ ही उससे रंगदारी के नाम पर 5 हजार रुपए वसूलकर फरार हो गए।

अशोक पासवान ने थाने में शिकायत दर्ज करवाते हुए कहा कि मैं 45 वर्षीय अशोक पासवान पिता जगदीश पासवान दिग्घी, वार्ड नंबर 10, थाना मुरलीगंज, जिला मधेपुरा का निवासी हूं। 12 मई रात करीब 2 बजे ग्राम भतखोरा टोला मुसर्नियारही वार्ड नंबर 6 स्थित अपने जरबैना से प्राप्त जमीन पर बने घर में अपने एक साथी रजनीश कुमार के साथ सो रहा थे। इसी बीच लगभग 30-40 अज्ञात बदमाश के साथ हरवे हथियार से लैस के साथ गाड़ी एवं 10-12 मोटरसाइकिल के साथ आए और विवेक सिंह नाम से एक अपराधी ने मुझे जगाया। साथ ही कहा कि साला दुसाध तुमको रंगदारी में 50 हजार रुपए देने बोले थे, तुम रंगदारी दो। जब मैंने रंगदारी देने का विरोध किया तो पहले विवेक सिंह सभी के धरपकड़ के सहयोग से मेरी जेब से 5 हजार रुपए निकाल लिए और कहा कि यहरंगदारी का पहला किश्त हुआ बाकी 45 हजार रुपए पहुंचा देना। जब मैंने रंगदारी के बाकी पैसे देने का विरोध किया तो उन्होंने मेरा घर कुलहाड़ी के काटकर गिरा दिया और मुझे मारने के लिए कई गोलियां भी चलाईं।

वहीं अशोक पासवान ने बताया कि जब मेरा साथी मुझे बचाने के लिए आया तो उसे जान से मारने की नीयत से घायल कर दिया। जब मैंने वहां से भागने की कोशिश की तो एक व्यक्ति ने मेरे गले में गमछा लगाकर हथियार के बट से छाती पर मारकर मुझे जख्मी कर दिया। इतना ही नहीं अपराधियों में से एक व्यक्ति ने जाते-जाते फायरिंग की, जो मेरी कनपटी के बगल से निकलकर गई। गोली की आवाज सुनकर आसपास के लोग इक्ट्ठा हो गए लेकिन उतनी देर में सभी अपराधी मौके से फरार हो गए। अपराधी विवेक सिंह कई आपराधिक मामलों में संलिप्त होते आ रहा है, जो फिलहाल ही जेल से बाहर आया है। यह अवैध धंधेबाज व्यक्ति है, जो अपने सहयोगियों के साथ गुंडागर्दी करता है। बता दें कि पासवान ने पुलिस से आग्रह करते हुए कहा कि सभी अपराधियों के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की जाए।
 

Related Story

Trending Topics

Ireland

221/5

20.0

India

225/7

20.0

India win by 4 runs

RR 11.05
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!