बेरहम टीचर...होमवर्क ना करने पर 7 साल के मासूम को शिक्षक ने खूब पीटा, दोस्त बोला- जगाया तो उठा नहीं

Edited By Swati Sharma, Updated: 24 Mar, 2023 11:21 AM

7 year old brutally beaten up for not doing homework

जानकारी के मुताबिक, मामला जिले के सिमरी बख्तियारपुर थाने के हुसैन चक इलाके का है। मृतक बच्चे की पहचान आदित्य के रूप में हुई है। आदित्य बोधि पब्लिक स्कूल में एलकेजी का छात्र था और वह स्कूल के हॉस्टल में ही रहता था। हॉस्टल में रह रहे आदित्य के दोस्त...

सहरसा: बिहार के सहरसा जिले से मानवता को शर्मसार कर देने वाला मामला सामने आया है, जहां पर एक 7 साल के बच्चे को स्कूल संचालक ने होमवर्क ना करने पर इतना पीटा की उसकी मौत हो गई। वहीं बच्चे की मौत के बाद से संचालक फरार है।

हॉस्टल में रहता था आदित्य
जानकारी के मुताबिक, मामला जिले के सिमरी बख्तियारपुर थाने के हुसैन चक इलाके का है। मृतक बच्चे की पहचान आदित्य के रूप में हुई है। आदित्य बोधि पब्लिक स्कूल में एलकेजी का छात्र था और वह स्कूल के हॉस्टल में ही रहता था। हॉस्टल में रह रहे आदित्य के दोस्त ने बताया कि बुधवार को होमवर्क न करने पर सर ने आदित्य को स्टिक से खूब पीटा था। फिर वह शाम को खाना खाने के बाद सोने चला गया। सुबह जब मैं आदित्य को उठाने लगा तो उसका शरीर अकड़ गया था। सर को बताया तो उन्होंने कहा कि लगता है मर गया। चलो, इसे अस्पताल में छोड़ देते हैं। इसके बाद शिक्षक ने बच्चे के पिता प्रकाश कुमार को फोन कर उसके बेहोश होने की जानकारी दी और कहा कि मैं बच्चे को लेकर अस्पताल जा रहा हूं। आदित्य के पिता के जब तक अस्पताल पहुंचे से तब तक डॉक्टरों ने आदित्य को मृत घोषित कर दिया था।

जांच में जुटी पुलिस
बता दें कि घटना की सूचना मिलते ही पुलिस घटनास्थल पर पहुंची। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया। बच्चे की मौत के बाद से संचालक सुजीत कुमार फरार बताया जा रहा है। इस मामले में एएसआई ब्रजेश चौहान ने कहा मृतक बच्चे के कि पिता  ने शिकायत दर्ज करवाई है। इसके अतिरिक्त पुलिस मामले की जांच कर रही है। आदित्य के पिता प्रकाश यादव ने बताया कि आदित्य होली पर घर आया था। 

Related Story

Trending Topics

Afghanistan

134/10

20.0

India

181/8

20.0

India win by 47 runs

RR 6.70
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!